नई खोज एक हैरान करने वाला खुलासा : मृत्यु से कुछ मिनट पहले क्या सोचता है इंसान ?

0
1481

जैसा कि हर इंसान के मन में यह प्रश्न उठता होगा कि इंसान मरने से कुछ मिनट पहले क्या सोचता है ? जी हाँ आइये बात करते हैं इस विषय पर कि इंसान पैदा क्यों होता है, इंसान को पैदा होने के बाद धरती पर क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए और मरते वक्त क्या सोचता है ?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हर इंसान की मौत एक जैसा नहीं होता है कोई किसी दर्द की वजह से मरता है तो कोई नाॅर्मल मरता है।

बात करते हैं दर्द से मरने वालों की तो वह दर्द से कराह कर मरता हैं और वह कुछ भी नहीं सोच पाता है।

बात करते हैं उस इंसान की जो नाॅर्मल मरता है।

कुछ बातें तो कॅामन होती है जो कि मनुष्य मरते वक्त जरुर सोचता है, जैसे कि कोइ इंसान बिना सपना पुरा किए बिना मरने लगता है तो इसके लिए जरुर याद करता है कि काश ये कर लिया होता और यह एक सामान्य तरह का खेद है जो हर कोई मरने से पहले जताता है. जब इंसान को लगता है कि उसका यह आखिरी वक्त चल रहा है तो वह यह भी याद करता है जिस काम को उसने या तो अधूरा छोड़ दिया या फिर शुरू ही नहीं किया हो।

खास कर पुरुष की बात की जाय तो वह ये भी सोचते हैं कि काश कुछ अपने परिवार वालों के लिए कुछ अच्छा कर लिया होता क्योंकि पुरुष को ही पुरे परिवार की ख्यालात को समझना और चलाना होता है, और मरते दम तक इसे खेद जताता है।

कुछ लोग तो यह भी खेद जताते हैं कि किसी खास दोस्त को मुसीबत के समय धोखा दिया हो, और वह मरते वक्त याद करता है कि काश मैं दोस्त के साथ धोखा न दिया होता।

इतना सारा सोचने के बाद बहुत से लोग अपने बारे में सोचने लग जाते हैं कि काश मैं यह खुशी पा लेता यह कर लेता वह कर लेता.. जिंदगी में कुछ क्यों नहीं किया ? और इनसब बातों को सोचते – सोचते दम तोड़ देता है।

loading...

LEAVE A REPLY