शशिकला जेल में बनाएगी कैंडल, नहीं मिली ए-क्लास सेल – बनी कैदी नम्बर 9234

0
484

बेहिसाब प्रॉपर्टी मामले में शशिकला नटराजन को कोर्ट ने 4 साल की सजा सुनाइ हैं। कोर्ट के इस फैसले को देखते हुए शशिकला नटराजन ने बुधवार शाम बेंगलुरु की स्पेशल कोर्ट (जेल) में सरेंडर कर दिया । सुत्रों के अनुसार नटराजन ए-क्लास सेल मांगी थी, लेकिन फिलहाल उन्हें 2 अन्य कैदियों के साथ रखा गया है। जेल में उन्हें कैदी नम्बर 9234 कहा जाएगा। शशिकला को कैंडल बनाने का काम दिया गया है। इसके लिए उन्हें हर दिन 50 रुपए मिलेंगे।

शशिकला जयललिता की समाधि पर भी गईं…

– कोर्ट में सरेंडर करने के पहले शशिकला जयललिता की समाधि पर भी गईं। वहाँ प्रार्थना किया और आँख बंद कर नमन किया। वहाँ समाधी पर 3 बार जोर से थपकी दी।
– तमिल ट्रेडिशन के अनुसार, किसी की समाधि पर तीन बार थपकी देने का मतलब है कि आप किसी के नाम पर शपथ लेकर कोई बड़ा संकल्प ले रहे हैं।
– वहीं पार्टी के कुछ लोगों का कहना है कि शशिकला ने संकल्प लिया कि वे जल्द ही लौटकर वापस आएगी और लोगों के सपने को पुरा करेगी।

कहाँ किया सरेंडर ??

– शशिकला बेंगलुरु की पारापाना अग्रहारा जेल में में सरेंडर किया ।
– मेडिकल चेकअप के बाद शशिकला और इलावरसी जज के सामने पेश हुए। मामले के तीसरे दोषी सुधाकरन कोर्ट नहीं पहुंचे। इलावरसी और सुधाकरन शशिकला के रिश्तेदार हैं।
– शशिकला ने कोर्ट से जेल में ए-क्लास सेल, मेडिकल फैसिलिटी, एक फैन, हफ्ते में 2 बार नॉन-वेजिटेरियन फूड और मेडिटेशन के लिए जगह दिलवाने की अपील की, जिसे कोर्ट ने जेल अथॉरिटीज को रेफर कर दिया।
– शशिकला को फिलहाल जेल की जिस सेल में रखा गया है, उसमें 2 अन्य कैदी भी हैं।

शशिकला की प्रॉपर्टी

-जैसा कि आपको बता दें बेहिसाब प्रॉपर्टी के केस में 21 साल बाद तय हुआ कि जया-शशिकला की आय से ज्यादा बेहिसाब प्रॉपर्टी 8% नहीं, 541% थी। सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले पर मुहर लगाई थी।
– सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए हाईकोर्ट के फैसले को पलट दिया था। इसके मुताबिक, शशिकला को 4 साल जेल में गुजारने होंगे। सजा के 6 साल बाद तक वे चुनाव नहीं लड़ सकेंगी। 10 साल तक उनके पास कोई राजनीतिक पद भी नहीं रहेगा।
loading...

LEAVE A REPLY