बैंकों में 4 बार से ज्यादा कैश लेनदेन करने पर कटेंगे हर बार 150 रुपये

0
547
No More Cash Transaction

नई दिल्ली, 1 मार्च से बैंकों में कैश लेनदेन करने पर बड़ा झटका लगेगा। अब निजी बैंक ज्यादा कैश लेनदेन करने वालों पर ट्रांजैक्शन चार्ज लगाएगी। ट्रांजैक्शन चार्ज का यह नया नियम 1 मार्च 2017 यानी आज से लागू हो गया है.

HDFC बैंक ने दिए 4 फ्री ट्रांजैक्शन, फिर लेगा 150 रुपये

देश के सबसे बड़े निजी बैंक HDFC ने नया नियम बनाया जिसके मुताबिक कोई ग्राहक अब केवल एक महीने में 4 बार बिना किसी ट्रांजैक्शन चार्ज के कैश निकालने और कैश जमा करने का फायदा ले सकता है। इसके बाद अगर ग्राहक पांचवें और उसके बाद ट्रांजैक्शन करता है तो ग्राहक को सभी ट्रांजैक्शन पर बैंक को 150 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन चार्ज देना होगा. इतनी ही नहीं, एचडीएफसी बैंक के नियम के मुताबिक इस 150 रुपये के ट्रांजैक्शन चार्ज पर आपको अलग से टैक्स और सेस भी अदा करना होगा.

वहीं आप नॉन होम ब्रांच से एक दिन में 25,000 रुपये की निकासी करते हैं तो आपसे किसी तरह का कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा. लेकिन इससे अधिक रकम पर प्रति हजार निकासी पर 5 रुपये या न्यूनतम चार्ज 150 रुपये अदा करने होंगे. इस ट्रांजैक्शन पर भी आपको टैक्स और सेस अलग से अदा करना होगा.

एचडीएफसी के मुताबिक बैंक के सीनियर सिटिजन ग्राहकों और नाबालिग बैंक खाताधारकों के लिए प्रति दिन निकासी सीमा 25,000 रुपये रहेंगी, हालांकि इन खाताधारकों पर कोई चार्ज अथवा टैक्स नहीं लगेगा. इसके साथ ही नोटबंदी के बाद बैंक द्वारा लगाया गया कैश हैंडलिंग चार्ज तत्काल प्रभाव से हटा लिया गया है.

bank_rate_moss_030117050003

SBI बैंक ने दिए 3 फ्री ट्रांजैक्शन, चौथी बार लगेगा 50 रुपये चार्ज

HDFC बैंक के तर्ज पर ही देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI ने भी कैश लेनदेन के नए नियमों का ऐलान किया। हालांकि SBI के नियम मौजूदा वित्त वर्ष खत्म होने पर 1 अप्रैल से लागु होंगे. SBI के मुताबिक अब उसके खाताधारक अपने होम ब्रांच से महीने में महज तीन बार कैश लेनदेन कर सकते हैं. एसबीआई ने 3 फ्री टांजैक्शन के बाद चौथे ट्रांजैक्शन से प्रति ट्रांजैक्शन 50 रुपये वसूलने का ऐलान किया है.

निजी क्षेत्र के एक्सिस बैंक ने अपने ग्राहकों को एक महीने में 5 कैश ट्रांजैक्शन फ्री दिए हैं. एक्सिस बैंक की गाइडलाइन के मुताबिक उसके ग्राहत 5 फ्री ट्रांजैक्शन के साथ एक महीने में 10 लाख रुपये तक की निकासी बिना किसी भुगतान के कर सकते हैं. इसके ऊपर किए गए कैश ट्रांजैक्शन पर बैंक चार्ज वसूल करेगी.

गौरतलब है कि बैंकों ने कैश लेनदेन पर यह चार्ज लगाने के पीछे दलील दी है कि इससे ग्राहक कैश निकालने से कतराएंगे और वह कैशलेस माध्यमों को ज्यादा तरजीह देंगे.

loading...

LEAVE A REPLY