नीतीश ने फिर किया नोटबंदी का समर्थन; बोले यह सकारात्मक कदम, इससे फायदा होगा

0
251

महागंठबंधन, शहाबुद्दीन और नोटबंदी समेत कई मुद्दों पर बोले नीतीश

नई दिल्ली; बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में देश और झारखंड की राजनीति, महागंठबंधन तथा अपनी सरकार की उपलब्धियों पर खुलकर बात की. उन्होंने महागंठबंधन में मतभेद और भाजपा की ओर अपने झुकाव से जुड़ी अटकलों को खारिज किया. उन्होंने कहा कि कालेधन के खिलाफ ठोस नतीजे के लिए देश में नोटबंदी के साथ-साथ शराबबंदी और बेनामी संपत्ति के खिलाफ कार्रवाई जरूरी है. कालेधन में करेंसी की हिस्सेदारी बेहद सीमित है. इसलिए केवल नोटबंदी से कालेधन के पूरे सिस्टम को खत्म नहीं जा सकता. उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में खुद के पीएम कैंडिडेट होने की संभावनाओं से जुड़े सवाल को यह कह कर टाल दिया कि फिलवक्त जदयू को राष्ट्रीय पार्टी बनाना उनका बड़ा लक्ष्य है.

शहाबुद्दीन पर बोले नीतीश

नीतीश कुमार ने भरोसा जताया कि महागंठबंधन अपना टर्म पूरा करेगा. शहाबुद्दीन कोई मुद्दा नहीं है. शहाबुद्दीन के मामले में सरकार को जो करना चाहिए था, वह किया गया. रूल ऑफ लॉ के मामले में हम कोई कंप्रोमाइज नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि वे लोहिया से प्रेरित हैं. इसलिए बोलने में नहीं, काम करने में विश्वास करते हैं. उन्होंने कहा कि सही को सही कहना उनकी आदत का हिस्सा है. राष्ट्रहित उनके लिए पार्टी हित से बड़ा है.

महागंठबंधन पर क्या बोले सीएम नीतीश ?

नीतीश ने कहा कि बिहार में हमलोगों ने मिल कर चुनाव लड़ा और सरकार भी मिल कर काम कर रही है. पांच साल के लिए जनता ने हमें चुन कर भेजा है. इसे चलना तो चाहिए ही. नीतीश ने कहा, ‘लालू प्रसाद और हमारे बीच कोई मतभेद या गलतफहमी नहीं है. हमलोग ज्वाइंट मीटिंग करते हैं. सारी चीजें सही जगह पर हैं.’

पीएम बनना नहीं, जदयू को राष्ट्रीय पार्टी बनाना लक्ष्य:

नीतीश कुमार ने 2019 के लोकसभा चुनाव में खुद के पीएम कैंडिडेट होने के सवाल पर कहा, ‘प्रधानमंत्री का पद मजाक का पद नहीं है. कई लोगों (दल) को इसके लिए समर्थन करना होता है. पीएम पद के बारे में इस तरह की हल्की बात नहीं होनी चाहिए. जब कैंडिडेट बनने का अवसर आयेगा, तब बन जायेंगे और पीएम बनना ही होगा, तो कोई रोक लेगा क्या. मेरे लिए मिशन 2019 कुछ नहीं है. उस दिशा में अभी  कोई कदम  गंभीरता से नहीं उठाया जा रहा है. मेरा राष्ट्रीय लक्ष्य जदयू को राष्ट्रीय पार्टी बनाना है.’

loading...

LEAVE A REPLY