UP में अब मुस्लिमों ने लगाए राम मंदिर बनवाने के लिए बैनर, कहा राम मंदिर ही बनना चाहिए

0
515

Muslim Puts Banner to Make Ram Mandir in Ayodhya

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर काफी सालों से बहस चलती आ रही है लेकिन आजतक इसका कोइ समाधान नहीं मिल पाया लेकिन कुछ ही दिन पहले आदित्यनाथ योगी का युपी मुख्यमंत्री बनने के बाद हिन्दु लोगों की माँग काफी ज्यादा बढ़ गइ है। वहीं हिन्दुओं के बाद अब मुस्लिमों ने भी राम मंदिर बनाने का समर्थन किया और जगह जगह पोस्टर चिपकाये जिसमें लिखा है “देश के मुस्लमानों का यही है मान श्री राम मंदिर का हो वहीं निर्माण”। जैसा कि आपको बता दें योगी के मुख्यमंत्री बनते ही कवायद  तेज होती जा रही है और राजधानी लखनऊ में मंदिर निर्माण को लेकर कई जगह-जगह होर्डिंग्स और बैनर लगे हैं. इन बैनरों को कुछ मुस्लिम संगठनों ने लगाया है जिनका खास मकसद राम मंदिर बनवाने का है. इन संगठनों ने होर्डिंग्स-बैनर में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर दोनों पक्षों से मिल-बैठकर मामला सुलझाने की अपील की गई है.

ऐसे ही एक संगठन ‘श्री राम मंदिर निर्माण मुस्लिम कारसेवक मंच’ के अध्यक्ष आजम खान ने लखनऊ में ऐसे करीब 10 होर्डिंग्स लगाए हैं, जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों पर आगे बढ़ने का आह्वान किया है. इस बारे में हमने जब आजम खान से संपर्क किया, तो बंदूकधारी गार्ड से घिरे आजम खान कहते हैं, ‘राम हिन्दुओं की तरह मुस्लिमों के लिए आदरणीय हैं. मुझे ‘जय श्री राम’ कहने में कोई हिचक नहीं.’

पढ़ें : राम मंदिर का इतिहास…

आजम का दावा है कि उनके साथ बड़ी तादाद में युवा जुड़ रहे हैं. ये लोग दोनों समुदायों के बीच सौहार्द्र बढ़ाने की कोशिशों में जुटे हैं. हालांकि इसके साथ ही आजम यह भी कहते हैं कि उन्हें इस कदम से बाद से कई धमकियां मिल रही हैं.

इंडिया टुडे से बातचीत में वह कहते हैं, ‘मुझे ई-मेल और फोन पर धमकी की जा रही है. वे मुझसे यह मुद्दा छोड़ने या फिर बाबरी मस्जिद दोबारा बनवाने के पक्ष में बोलने को कहने कह रहे हैं.’ इसके साथ ही वह कहते हैं कि उन्हें अपने वापस खींचने के लिए पैसों तक के ऑफर मिल रहे हैं. आजम कहते हैं कि उन्होंने इस संबंध में पुलिस में FIR भी दर्ज कराई है, लेकिन उन्होंने पुलिस से अब तक कोई सुरक्षा कवर नहीं मिला है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने और आयोध्या विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी पक्षों से मिलकर आपस में यह विवाद सुलझाने के निर्देश के बाद से ही राम मंदिर निर्माण की बातें एक बार फिर जोरशोर से उठने लगी हैं. ऐसे में आजम खान की यह कोई कोशिश इसी कड़ी के हिस्से के रूप में देखी जा रही है.

Source: AAJ Tak

loading...

LEAVE A REPLY