महेंद्र सिंह धोनी टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया जानिये खास

0
326

भारत के सफलतम कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने टीम इंडिया की कप्तानी छोड़कर एक बार फिर क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया। महेंद्र सिंह धोनी ने बुधवार को अचानक वनडे और टी-20 टीम की कप्तानी छोड़ दी। हालांकि वे केवल कप्तानी से सन्यास लिया हे लेकिन वे अभी भी क्रिकेट में बने रहेंगे। धोनी ने 2014 में ही टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया था।

महेंद्र सिंह धोनी की इच्छा थी कि 2019 में इंग्लैंड में होने जा रहे वर्ल्ड कप में धोनी खेलना चाहते थे लेकिन ऐसा क्या हुआ कि उन्हें अचानक से क्प्तानी छोड़ना पड़ गया, सुत्रों के अनुसार बताया जा रहा हे कि इसके पिछे लम्बी प्लानिंग है।

जैसा कि आपको बता दें 6 जनवरी को इंग्लैंड के खिलाफ शुरू होने वाली एकदिवसीय और टी-20 सीरीज के लिए कप्तान का एलान होना है और यह माना जा रहा है कि विराट कोहली को यह भूमिका दी जाएगी।

कप्तानी छोड़ने का कारण

– 2019 में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप से पहले पद छोड़ा, ताकि नए कप्तान को वक्त मिले।
– विराट के बेहतरीन और अपने खराब परफॉर्मेंस से दबाव में थे। अगर इंग्लैंड के खिलाफ खराब खेलते तो इस्तीफे का दबाव बनता।
– धोनी-विराट की कप्तानी की शैली बिलकुल अलग है। वे मानते हैं कि लंबे समय तक अलग कप्तान होने से साथियों का प्रदर्शन प्रभावित होता।
– अश्विन, जडेजा जैसे कई क्रिकेटरों को धोनी ने आगे बढ़ाया। लेकिन इन्होंने विराट को सभी फॉर्मेट में कप्तान बनाने का समर्थन किया। धोनी खुद ही हट गए।

धोनी के इस फैसले पर किसने क्या कहा?

* सचिन तेंडुलकर: ‘धोनी ने भारतीय क्रिकेट को नई ऊंचाइयां दी हैं। हमें देश के लिए उनके योगदान का आभार मानना चाहिए।’
* अनुराग ठाकुर (पूर्व बीसीसीआई चीफ): ‘धोनी मिस्टर कूल थे क्योंकि वे मैदान में शांत रहकर सफल रणनीति बनाते थे। उन्होंने हमें ढेर सारी खुशियां दी है।’
* मोहम्मद अजहरुद्दीन: ‘धोनी ने देश को दो वर्ल्ड कप और एक चैंपियंस ट्रॉफी दिलाई है। वे खुद कैसे कप्तानी छोड़ सकते हैं। यह फैसला तो सिलेक्टर्स को करना चाहिए।’

धोनी के बारे में ये खास

– 12 टेस्ट में 1215 रन बनाए। बतौर कप्तान 9 मैच जीते।
– 100+ वनडे जीतने वाले एकमात्र भारतीय कप्तान हैं।
– 2007 में टी20 टीम के कप्तान बने। वर्ल्ड कप जिताया।
– आईसीसी के तीनों टूर्नामेंट (वनडे और टी20 वर्ल्ड कप, चैंपियंस ट्रॉफी) जीतने वाले एकमात्र कप्तान।
– वनडे में नंबर सात पर बल्लेबाजी करते हुए शतक जमाने वाले एकमात्र कप्तान। (पाकिस्तान के खिलाफ दिसंबर 2012 में)
– टीम इंडिया को टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन पर पहुंचाया, 2009 में।
– क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में 50 से ज्यादा मैचों में कप्तानी करने वाले एकमात्र खिलाड़ी। (60 टेस्ट, 189 वनडे, 51 टी20)

loading...

LEAVE A REPLY