भारतीय मूल के तीन लोगों को ऑस्‍ट्रेलिया का सर्वोच्‍च नागरिक पुरस्‍कार

0
183

भारतीय मूल के तीन लोगों को अलग – अलग क्षेत्रों में सराहनीय योगदान के लिए ऑस्‍ट्रेलिया में सम्‍मानित किया गया।

मेलबर्न (प्रेट्र)। भारतीय मूल के तीन लोगों को अलग – अलग क्षेत्रों में ऑस्ट्रेलिया में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इनमें से पुरुषोत्तम सावरिकर, माखन सिंह खांगुरे, विजय कुमार और तेजिंदर पाल सिंह शामिल हैं

26 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया दिवस के अवसर पर सिडनी स्थित मेडिकल प्रैक्टिशनर, पुरुषोत्तम सावरिकर को 2017 के लिए ऑस्ट्रेलियाई पदक से सम्मानित किया गया, सावरिकर को यह सम्मान मेडिसीन व कम्युनिटी में उल्लेखनीय योगदान के लिए मिला है।

सावरिकर ऑस्ट्रेलियन इंडियन मेडिकल ग्रेजुएट्स एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष थे और सामुदायिक रेडियो ‘आकाशवाणी सिडनी’ की भी स्थापना की थी।

पर्थ से माखन सिंह खांगुरे को न्यूरोरेडियालॉजी, शिक्षा और कई प्रोफेशनल मेडिकल असोसिएशन के लिए सम्मानित किया गया।

न्यूक्लियर मेडिसीन स्पेशलिस्ट और रिसर्चर, विजय कुमार को न्यूक्लियर मेडिसीन में मेडिकल रिसर्च और योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

सिडनी तमिल संगम असोसिएशन की स्थापना करने वाली टीम के सदस्यों में से एक कुमार को 2007 और 2014 में ऑस्ट्रेलियन न्यूक्लियर साइंस और टेक्नोलॉजी आर्गेनाइजेशन अवार्ड मिल चुका है।

डारवेन के तेजिंदर पाल सिंह को भी ऑस्ट्रेलियन ऑफ द इयर के लोकल हीरो कैटेगरी अवार्ड से सम्मानित किया गया। सिंह ने समुदाय की बेहतरी में सराहनीय योगदान दिया है।  चार साल पुराने इनिशिएटिव ‘फूड वैन’ जिसके जरिए मुफ्त भोजन उपलब्ध कराया जाता है के लिए ही सिंह को नॉमिनेट किया गया था। इसके जरिए वे हर माह के अंतिम रविवार को उत्तरी डार्विन के गरीब और जरूरतमंदों को खाना मुहैया करा रहे थे।

इस साल ऑस्ट्रेलिया डे पर सम्मान के लिए 950 से अधिक ऑस्ट्रेलियाइ नागरिकों को नामित किया गया जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री जूलिया गिलार्ड विक्टोरियाई गर्वनर लिंडा डेसाउ, ऑर्गेनिक साइंटिस्ट एंड्रयू होम्स व पूर्व लिबरल एमपी डेविड केंप भा शामिल हैं।

इसके अलावा क्वींसलैंड के बायोमेडिकल वैज्ञानिक एलन मैके-सिम सम्मानित हुए और इन्हें ऑस्ट्रेलियन ऑफ द इयर का अवार्ड भी मिला।

 

 

Source: Jagran

loading...

LEAVE A REPLY